Thyroid Ke Gharelu upay | थायराइड के घरेलू उपाय, इलाज

Thyroid Ke Gharelu Upay (थायराइड के घरेलू उपाय): आज हम थाइरोइड रोग के कुछ घरेलू उपाय और नुस्खे के बारे में बताएँगे. अगर आपके शरीर में थाइरोइड रोग से जुड़े यह लक्षण दिखाई देते है तो आपको थाइरोइड से जुड़े रोग होने की पूरी संभावना है.

थाइरोइड एक तितली के आकार की ग्रंथि होती है, जो गले में होती है. यह ग्रंथि “Thyroxin” नाम का हॉर्मोन्स पैदा करती है. यह हॉर्मोन्स आपके शरीर के चयापचय (metabolism) की क्रिया को नियत्रित करता है.

थाइरोइड रोग के प्रकार | Types of thyroid disease

Thyroid रोग के लक्षण अनुसार इस रोग को दो प्रकार में विभाजित किया जाता है.

  1. हाइपोथायरायडिज्म  (Hypothyroidism – Under Active thyroid )
  2. हाइपरथायरायडिज्म (Hyperthyroidism – Over Active thyroid )

thyroid ke karan lakshan

हाइपोथायरायडिज्म क्या है?

अगर Thyroxin नामक हॉर्मोन्स जब शरीर में कम हो जाता है तो तब शरीर में चयापचय (metabolism ) की क्रिया तेज होने लगती है. जिसकी वजह से आपके शरीर की एनर्जी जल्दी ख़त्म हो जाती है और आपको थकान का एहसास होता है। इस परिस्थिति को Hypothyroidism के नाम से जाना जाता है।  

हाइपरथायरायडिज्म क्या है?

अगर यह हॉर्मोन्स का लेवल शरीर में बढ़ जाता है तब आपके शरीर में चयापचय की क्रिया कम हो जाती है. जिसके कारन आपके शरीर में एनर्जी कम बनती है जिससे आपको थकान होने लगती है. इस परिस्थिति को Hyperthyroidism के नाम से जाना जाता है।  

थाइरोइड ग्लैंड के बढ़ने से और भी कई प्रकार की गंभीर समस्या हो सकती है. जैसे की हृदय से जुडी बीमारी, कोलेस्ट्रॉल बढ़ना , मांसपेशिया और हड्डियों से जुडी समस्या हो सकती है.

बच्चो में थाइरोइड रोग होने पर उनकी हाइट बढ़ना रुक जाती है और साथ ही शरीर फूलने जैसी समस्या हो सकती है.

Thyroid rog ke lakshan

1. हाइपोथायरायडिज्म के लक्षण | Hypothyroidism Symptoms

  • आवाज में भारीपन आना
  • अचानक वजन का बढ़ना
  • भूख न लगना
  • सिर , गर्दन और जोड़ो में दर्द होना
  • पेट में क़ब्ज़ होना
  • ठण्ड ज्यादा लगना
  • आँखों और चेहरे पर सूजन आना
  • त्वचा सुखी होना

2. हाइपरथायरायडिज्म के लक्षण | Hyperthyroidism Symptoms

  • वजन घटना
  • हाथ – पैर में कंपन आना
  • हार्ट बीट का बढ़ाना
  • ज्यादा पसीना आना

थायराइड रोग से जुड़े किसी भी लक्षण के दिखने पर आपको सबसे पहले इसका टेस्ट करवाना चाहिए। T3, T4 और  TSH टेस्ट से शरीर में थाइरोइड लेवल का पता कर सकते है.

आपकी इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए आज हम इस लेख के माध्यम से Thyroid rog Ke Gharelu upay के बारे में बताएँगे.

विस्तार से जानिए : Thyroid ke lakshan

Thyroid Ke Gharelu upay | थायराइड के घरेलू उपाय

 thyroid ka upay hara dhaniya

हरा धनिया:

थायराइड रोग के घरेलू इलाज के लिए धनिया का प्रयोग कर सकते है.
इसके लिए आप हरा धनिया ले और इसकी चटनी बना कर १ गिलास पानी में १ चम्मच धनिये के चटनी को मिला कर सेवन करे. नियमित रूप से इस उपाय को करने पर थाइरोइड कण्ट्रोल होने लगेगा. इस उपचार में हमेशा ताजा धनिया ही प्रयोग करें।

विटामिन A युक्त खोराक का प्रयोग:

अपने आहार में विटामिन A वाले आहार को शामिल करने से थाइरोइड की समस्या से निपटने में सहायता मिलेगी. अपने दैनिक आहार में पीले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। इसके अलावा, अंडे, गाजर और अन्य हरी सब्जियों में विटामिन ए की अच्छी मात्रा होती है और यह थायराइड से पीड़ित लोगों के लिए जयादा उपयोगी है।

अश्वगंधा का प्रयोग: Thyroid Ke upay

१ चम्मच अश्वगंधा चूर्ण को गाय के गुनगुने दूध में मिला कर रात को सोने से पहले सेवन करे।

बादाम + अख़रोट:

बादाम और अखरोट में सेलेनियम होता है जो थाइरोइड के रोग में फायदा करेगा और साथ ही गले की सूजन को भी कम करता है। यह Thyroid Ke Gharelu upay hypothyroid में ज्यादा उपयोगी है।

आयोडीन युक्त आहार लें:

आयोडीन युक्त आहार अपने डाइट में शामिल करने से थाइरोइड की समस्या के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। प्याज, स्ट्रॉबेरी, लहसुन, अनानास, टमाटर, शतावरी, प्याज और जई जैसे खाद्य पदार्थ आयोडीन के नैसर्गिक स्रोत हैं, जिनका आप नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं।

काली मिर्च का उपाय:

थाइरोइड रोग के घरेलू उपाय के लिए काली मिर्च बहुत उपयोगी है। आप किसी भी तरह काली मिर्च के सेवन कर सकते है।

ज्यूस पिए :

लौकी का जूस और व्हीटग्रास का जूस सुबह खाली पेट पिए और इसके बाद पानी में 30 ml अलोएवेरा, २ बूँद तुलसी का जूस मिला कर सेवन करे। इसके बाद आपको 30 मिनट तक कुछ खाये पिये नहीं। इसके अलावा दिन में एक बार मौसमी फलो के ज्यूस से सेवन अवश्य करे.

एप्पल साइडर विनेगर:

एप्पल साइडर विनेगर आपके शरीर में एसिड और क्षारीय संतुलन को थिक करने में सहायक होता है. एक गिलास गर्म पानी में २ चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाए और साथ ही आधा चम्मच शहद  मिलाए। इस मिश्रण का नियमित रूप से सेवन करने से आपको थायरॉइड रोग के उपाय में सहाय मिलेगी।

अधिक पानी पिएं:

इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को दिन में ३-४ लीटर पानी पीना चाहिए। इससे शरीर से विषैले पदार्थ शरीर से बहार निकल जाते है।

इसके साथ दिन की शुरुआत में योग और व्यायाम अवश्य करे. हर रोज कम से कम आधा घंटा व्यायाम जरूर करे।

थाइरोइड रोग के लिए आहार | Diet for Thyroid Disease

क्या खाये?| What to Eat?

निम्न लिखित खाद्य पदार्थो का सेवन जरूर करे

  • सब्जियां – पत्तेदार सब्जियां का सेवन किया जा सकता है, लेकिन कम मात्रा में
  • फल जैसे केला, संतरा, टमाटर और जामुन
  • ग्लूटेन फ्री अनाज और बीज जैसे की चावल, क्विनोआ, चिया बीज, अलसी और सन बीज,
  • डेयरी उत्पाद जैसे दूध, पनीर और दही
  • पानी और नॉन कैफीन ड्रिंक्स
  • घर पर बना दही
  • लहसुन – खाने से आंत में पनप रहे विभिन्न यीस्ट से छुटकारा पाने में भी मदद मिल सकती है।

खाने से बचें | Avoid Eating

  • ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें ग्लूटेन होते हैं  जैसे  ब्रेड, पास्ता, अनाज और बीयर.
  • सोया खाद्य पदार्थ जैसे की टोफू, सोया दूध, और सोयाबीन
  • ब्रोकोली, पालक, और गोभी जैसी सब्जियां, जिनमें थायरॉयड अवरोधक गुण होते हैं.
  • कुछ फलों में भी गोइट्रोगन्स होते हैं, जैसे की आड़ू, नाशपाती और स्ट्रॉबेरी.
  • शराब और अन्य कैफीन पदार्थ.

थाइरोइड रोग से बचने के उपाय | Thyroid se bachne ke upay

  • हर 5 साल में अपने आप को थायराइड के लिए जांच करवाएं, आमतौर पर जब आप 35 साल पार करते हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान और बाद में थयरॉइड की जांच करवाएं।
  • धूम्रपान छोड़े।
  • शराब और कैफीन के सेवन से बचें।
  • खुद को तनाव मुक्त रखें।
  • फ़िल्टर्ड पानी पिएं।
  • गहरे तले हुए खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें।
  • आयोडीन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  • अपने वजन को नियंत्रण में रखें।
  • एरोबिक व्यायाम और योग करें.  व्यायाम आपके मनोदशा को सुधार करने में, थकान और तनाव से राहत देने में, वजन घटाने में सहायता करने और आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है.
  • थाइरोइड को हैल्थी रखने के लिए अच्छी नींद बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह तनाव हार्मोन कोर्टिसोल को नियंत्रित करता है. अच्छी नींद हार्मोनल संतुलन सुनिश्चित करती है, साथ ही बॉडी टिश्यू को रिपेयर और अच्छा बनाती है, और शरीर की हीलिंग पावर को बढ़ावा देती है।

इनमें से, सबसे महत्वपूर्ण टिप्स में से एक जो आपको फॉलो करनी चाहिए, वह यह है कि आप अपने थायरॉयड के स्तर पर नियमित रूप से जांच करवाते रहे. विशेष रूप तब, जब आप 35 वर्ष की आयु पार कर लेते हैं.

ऐसा करने से थाइरोइड से जुड़े रोग के बारे में पहले से पता कर सकते है, आप जल्द से इसका प्राकृतिक रूप से इलाज कर सकते हैं. यह आपको इससे जुड़ी जटिलताओं या सिंथेटिक हार्मोन की आवश्यकता से बचा सकती है।

मुझे उम्मीद है कि यह जानकारी आपको Thyroid kam karne me और इसके ilaz करने में सहायक होगी.

अगर आपको यह Thyroid Ke Gharelu Upay और Nuskhe  से जुडी जानकारी अच्छी लगी है तो, कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें.  हमें समर्थन देने के लिए फेसबुक और इंस्टग्राम पर जाकर इसे लाइक और शेयर करे.
आपका कोई सुझाव और सूचन है तो comment करे.

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *