ये तीन मसाले देंगे बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ

Various spice health benefits and reason to use.

रसोई घर के ये तीन मसाले देंगे बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ : मसाले को हमारे खाने में इस्तमाल करने से स्वाद तो बढ़ता ही है, साथ में यह मसाले हमारे शरीर को  कई  रोगो से बचाव भी करते है।

यहाँ पे हम खास मसालों के बारे में बताएँगे जिनका उपयोग आयुर्वेद में किया गया है। इनको हम एक औषधि के रूप में इस्तेमाल करके कई बीमारियों को निदान कर सकते है।

खाना पकाते समय इन मसालों का उपयोग नहीं करते तो खाना बेस्वाद और अच्छा नहीं लगता।  वही हम ज्यादा मात्रा यह मसाला डालते है तो खाना मसालेदार और अच्छा लगता है।  लेकिन अधिक मात्रा में मसाले उपयोग भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

वही हम इन मसालों का योग्य मात्रा में और सही तरीके से इस्तमाल करे तो वह हमारे लिए वरदानरूप साबित हो सकते है।

आज हम ऐसे ही तीन मसालों (3 spice health benefits) के बारे में बताएँगे जिनका आपके दैनिक जीवन में इस्तमाल करके आपके आरोग्य को बहेतर बना सकते है.

धनिया बीज का उपयोग (coriander spice health benefits)coriander spice health benefits

१. अम्लपित्त की  बीमारी में आराम :

अगर आपको अम्लपित्त की समस्या हे तो आपको धनिया बीज का इस्तमाल करना चाहिए। इसके उपाय से आपकी यह समस्या  बहोत जल्द ठीक हो जाएगी।

पित्तजन्य रोग में आप धनिया बीज के साथ सौंफ और आँवला को सप्रमाण लेके उसका चूर्ण बना ले, और फिर उसमे मिश्री डालकर तैयार कर ले।

इस चूर्ण को एक गिलास पानी में १ चम्मच डालकर ६ घंटे तक भिगो के रखे। फिर उस घोल को छन्नी से छान कर पिए. जिससे आपको यह बीमारी से राहत मिलेगी।

२. सिरदर्द और अनिद्रा की बीमारी मिटाये :

यदि आप सिरदर्द और अनिद्रा के साथ उल्टी जैसी समस्या से परेशान है तो, धनिया के रस में चीनी  मिलाकर पीना चाहिए।  इससे  आपको बहोत जल्द आराम मिलेगा।

३. शौच क्रिया  से पहले करे धनिया बीज का सेवन :

जिसको पेट संबधी कुछ समस्या है तो धनिया बीज बहुत फायदेमंद है।  जिनको खाना खाने के बाद तुरंत शौच क्रिया करने की बीमारी हे तो – २ ग्राम धनिया बीज का पावडर ले उसमे थोड़ा सिंधव नमक मिलाकर भोजन करने के बाद लेने से फायदा  होता है।

जीरा का इस्तेमाल (cumin spice health benefits)cumin spice health benefits

१. माताओं के दूध में बढ़ौती

जो महिलाये बच्चो को स्तनपान करवाती उनके लिए जीरा बहुत फायदेमंद है। जीरा और मिश्री को सप्रमाण लेकर पीसकर मिश्रण बना ले. इस मिश्रण को सुबह शाम एक – एक चम्मच दूध में मिलाकर पिने से माँ के दूध में  बढ़ौती होती है।

एक चम्मच जीरा पावडर को गुड़ के साथ मिलाकर खाने से भी माँ का दूध बढ़ता है।

२. फोड़ा – फुंसी में जीरा का उपयोग:

अगर आपको त्वचा संबंधी कोई भी समस्या है तो इसके लिए सफ़ेद जीरा को पानी में उबालकर, उस पानी से मुंह धोना चाहिए।  यह आप एक सप्ताह तक करते हे तो  फोड़ा – फुंसी और उसके धब्बे को दूर कर सकते हो। सफ़ेद जीरा कोई भी त्वचा रोग में आराम देता है।

३. ल्यूकोरिया (श्वेत प्रदर / सफेद पानी ) की समस्या में आराम

इस समस्या में आप जीरा का इस्तेमाल एक औषधि के रूप में कर सकते है। जीरा और मिश्री को सप्रमाण लेकर एक साथ पीस कर मिश्रण बना ले। २ से ५ ग्राम यह मिश्रण को चावल के पानी (मांड) के साथ लेने से सफ़ेद पानी की समस्या से राहत पा सकते है।

सौंफ का सेवन (saunf spice health benefits)

saunf spice health benefits

१. मुंह संबधी समस्या में आराम :

इस तकलीफ में आप को सौंफ का इस्तेमाल करना चाहिए।  भोजन करने के बाद सौंफ खाने से मुंह के छाले और मुँह की दुर्गन्ध को मिटा सकते है।

सौंफ और मिश्री को मिलाकर चबा के खाने से आँखों की रौशनी बढ़ती है और पित्त में आराम मिलता है।

२. डायरिया (दस्त) में आराम :

अगर आपको बहुत ज्यादा डायरिया हो गया हो तो इसके लिए सौंफ बहुत ही अच्छा घरेलु उपाय है। १ चम्मच सौंफ के साथ  १/२ चम्मच सूंढ़ मिलाकर काढ़ा बनाकर सुबह – शाम पीने से डायरिया में आराम मिलता है।

३. शरबत बनाकर पीने के फायदे :

जिनका शरीर बहुत गर्मीला हो, और जिन्हे आयेदिन सिरदर्द की समस्या है तो उन लोगो के लिया सौफ का शरबत फायदेमंद रहेगा। ५ ग्राम सौंफ और ५ ग्राम मिश्री को साथ में पीसकर शरबत बनाकर पीने से सिरदर्द में आराम मिलता है और शरीर में ठंडक भी  मिलती है।

सर्दियो के मौसम में ऑलिव ऑयल + शहद बहुत  उपयोगी हे

Image Source : Pixabay

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *