Low blood pressure ke lakshan : लो ब्लड प्रेशर के कारन और 8 शुरुआती लक्षण

अगर आपको ज्यादा पसीना होता है या कभी कभी आँखों में धुंधलापन लगता है तो, यह Low blood pressure ke lakshan हो सकते है. इस पोस्ट के माध्यम से लो  ब्लड प्रेशर (निम्न रक्तचाप) कुछ संकेत के बारे में इनफार्मेशन शेयर करूँगा। अगर आप इन संकेतो के बारे में जानते हे तो LOW BP की समस्या का इलाज करने में मदद कर सकते है।

लो  ब्लड प्रेशर जिसे हाइपोटेंशन के रूप में भी जाना जाता है, यह तब होता है जब शरीर के सभी अंगों में खराब रक्त की आपूर्ति होती है। यह स्थिति खतरनाक हो सकती है,  क्योंकि यह स्ट्रोक, दिल का दौरा या गुर्दे की विफलता का कारण बन सकती है।

निम्न रक्तचाप क्या है? what is low blood pressure in hind

अगर आपका रक्तचाप (blood pressure ) 90/60 mmHg की सामान्य दर से नीचे चला जाता है, इन परिस्थित में आपके शरीर में लो बीपी की समस्या पैदा हो जाती है। हालांकि इसके पीछे कई कारन हो सकते है। आइए जानते है उनमेसे कुछ प्रमुख कारन बारे में।

Low blood pressure ke lakshan

Low blood pressure ke karan – लो  ब्लड प्रेशर के कारण

लो  ब्लड प्रेशर के सबसे आम कारण जैसे

  • रक्त की मात्रा कम होना,
  • गहरी चोट के कारण अधिक रक्त का बहाव होना,
  • हृदय रोग,
  • अंतःस्रावी समस्या,
  • शरीर में डिहाइड्रेशन होना
  • एलर्जी की प्रतिक्रिया,
  • पोषण संबंधी कमियां
  • हाई ब्लड प्रेशर और डिप्रेशन की दवाये
  • गर्भावस्था

लो  ब्लड प्रेशर का कारण रक्त परीक्षण, रेडियोलॉजिक अध्ययन और हृदय परीक्षण द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। अगर आप चाहे तो डॉक्टर से संपर्क करके तुरंत ब्लड प्रेशर से जुडी बीमारी का पता लगा सकते है।

Blood pressure ka chart

निचे दिए गए चार्ट के माध्यम से आपका ब्लड प्रेशर से जुड़े रोग को अलग अलग कैटेगरी में पहचान कर सकते है। आगे उनसे जुड़े इलाज और निदान कर सकते है.

Blood Pressure Chart

 

 
Blood pressure categorySystolic mm Hg

(Upper Number)

Diastolic mm Hg

(Lower number)

Low Blood Pressure

(Hypotension)

Less than 90Less than 60
Normal Range90 to 12060 to 80
Pre-hypertension120 to 13980 to 89
High blood pressure

(Hypertension Stage 1)

140 to 14990 to 99
High blood pressure

(Hypertension Stage 2)

160 or higher100 or higher
High blood pressure crisis

(Require emergency care)

 

180 or higher110 or higher

अवश्य पढ़े : थायराइड रोग के लक्षण

इसके अलावा , ऐसे कई लक्षण हैं जो शरीर में निम्न रक्तचाप के शुरुआती लक्षण के बारे में बताते है। यदि यह उचित देखभाल नहीं की जाये तो यह घातक हो रोग घातक हो सकता है, और व्यक्ति अपना जीवन को खो  सकता है। इसलिए, उन संकेतों और लक्षणों के बारे में पता होना बेहतर है।

तो आइए जानते है महत्वपूर्ण शुरुआती संकेत के बारे में, जिन्हें आपको कभी भी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

Low blood pressure ke lakshan – लो  ब्लड प्रेशर के लक्षण

  1. चक्कर आना:

चक्कर आना निम्न रक्तचाप का सबसे आम लक्षण है। यह तब अनुभव किया जाता है जब स्थिति को बहुत लंबे समय तक बैठने के बाद उठने, बहुत  घंटों तक खड़े रहने और भोजन करने के बाद बदला जाता है।

2. धुंधली दृष्टि:

महत्वपूर्ण अंगों में रक्त के प्रवाह में कमी, ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की अनुपस्थिति अंगों के कामकाज को प्रतिबंधित करती है। यह लो बल्ड प्रेशर के दौरान भी दृष्टि को प्रभावित करता है।

3. अनियमित दिल की धड़कन:

जब रक्तचाप कम हो जाता है तो हृदय सबसे अधिक प्रभावित होता है। असामान्य रूप से तेज़ हृदय की गति संभवतः निम्न रक्तचाप को ट्रिगर कर सकती है। इसे low blood pressure ke प्रमुख lakshan में गिना जाता है।

4. पीली त्वचा – निम्न रक्तचाप का लक्षण

पीली त्वचा low blood pressure का एक और सामान्य संकेत है। यह त्वचा की बाहरी परतों तक रक्त की कमी के कारण होता है। इसलिए, त्वचा अपना रंग बदलती है और पीला दिखती है।

5. गर्दन में अकड़न:

रक्तचाप, हृदय गति और श्वास को नियंत्रित करने में गर्दन की मांसपेशियां महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जब दबाव कम हो जाता है, तो यह कठोर मांसपेशियों में परिणत होता है।

6. पसीना आना:

जब रक्तचाप कम हो जाता है, तो पसीने के माध्यम से शारीरिक तरल पदार्थों का नुकसान होता है। निम्न रक्तचाप के साथ अत्यधिक पसीना एक और आपातकाल का संकेत हो सकता है जिसे जल्दी इलाज करने की आवश्यकता होती है।

7. ध्यान की कमी:

निम्न रक्तचाप का एक और संकेत एकाग्रता की हानि है, जब आप निम्न रक्तचाप से पीड़ित होते हैं, तो आपके मस्तिष्क को ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाती है, और इसलिए आप ठीक से ध्यान केंद्रित करने में सक्षम नहीं होते हैं।

8. थकान – Low BP ka Lakshan

कई लोग लगातार थकान को भी हल्के में लेते हैं; हालाँकि, यह निम्न रक्तचाप का लक्षण भी हो सकता है,  और यह परिस्थिति को हेल्थ एक्सपर्ट्स के द्वारा जाँच करवाना चाहिए।

 

मुझे उम्मीद है कि यह जानकारी आपको प्रारंभिक चरण में लो ब्लड प्रेशर का निदान करने में सहायक होगी।

अगर आपको यह Low blood pressure ke lakshan से जुडी जानकारी अच्छी लगी है तो, कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें। हमें समर्थन देने के लिए फेसबुक और इंस्टग्राम पर जाकर इसे लाइक और शेयर करे।
आपका कोई सुझाव और सूचन है तो comment करे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *