केसर दूध के ये लाभ जानकर आपको होगी हैरानी

Benefits of saffron milk: these will surprise you

केसर (saffron) भारत  देश में कश्मीर में पाया जाता है, इसके अलावा दुनिया के अन्य देश जैसे – इटली, ग्रीस, स्पेन और ईरान में केसर का व्यपारिक तौर पे पैदा किया जाता है। यह एक बहुत महंगा मसाला है।

सैफरन का सेवन एक बहुत गुणकारी मसाले के रूप में किया जाता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। केसर का उपयोग कई आयुर्वेदिक घरेलू उपचार में भी किया जाता है। एक गिलास दूध में एक चुटकी केसर डालके पिने से वह आपके स्वास्थ्य को बहुत लाभ देता  है।

दूसरे मसालों से विपरीत केसर एंटी ऑक्सीडेंट से समृद्ध है, साथ ही उसमे करोटोनॉइड के गुण भी पाए जाते है। केसर में विटामिन-C और मैंगनीज पाया जाता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है.

इसका उपयोग हम खाने के व्यंजन में कई तरह से कर सकते।  लेकिन सबसे आसान तरीका है, दूध में चुटकीभर केसर मिलाकर पी सकते है, रोज़ाना ऐसा करने से आपको बहोत लाभ हो सकता है।

आईये देखते केसर वाला  दूध (Benefits of saffron milk) पीने से क्या लाभ मिलते है।

अनिंद्रा के रोग में उपयोगी

केसर मैंगनीज़ से भरपूर होता है, जो हमारे चित्त को आराम दिलाता है और शरीर को नींद के लिए प्रेरित करता है। रात सोने से पहले -एक चुटकी केसर (२ से ३ केसर के तार) लेकर गर्म दूध के गिलास में डालकर ५ मिनट रख लो।

थोड़ी देर बाद उसमे १/२ चम्मच शहद मिलाकर पीने से अनिंद्रा की बीमारी आराम में मिलता है।

स्मरण शक्ति बढ़ाए

सैफरन में पाए जाने वाला कुदरती तत्व दिमाग के स्मरण शक्ति बहुत फायदे मंद है।  इसके लिए रोज़ाना एक गिलास केसर वाला दूध का सेवन करे। जिससे आपके दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ेगी।

मासिक धर्म की पीड़ा राहत

महिलाओ को अनियमित मासिक धर्म  एवं इसके दौरान होनेवाले पीड़ा में केसर फायदेमंद रहता है। इस दर्द में राहत पाने के लिए २-३ रत्ती केसर दूध में डालकर पिए

मानसिक तनाव दूर करे

केसर में पाए जाने वाले कुदरती तत्वा सेरोटोनिन और अन्य रसायनो के स्तर को बढ़ाते है, जो डिप्रेशन एवं मानसिक तनाव को मिटाने में मदद करता है।

हृदय की बीमारी में उपयोगी (Benefits of saffron milk in heart disease)

केसर में पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट हृदय के बहुत फायदेमंद होते है, केसर दूध का  रोज़ाना सेवन रक्त में कोलैस्ट्रोल  के स्तर को घटाने में मदद करता है।  साथ ही हृदय की अन्य बीमारियों को रोकने में उपयोगी है।

खांसी और सर्दी में मिटाये

केसर की तासीर गर्म होती है, इसलिए खांसी और सर्दी में केसर को दूध के मिलाकर पिने से शरीर को गर्मी मिलती है।  इससे शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ती है। जो सर्दी जुकाम जैसी समस्या में राहत मिलती है।

रक्तचाप को नियंत्रित करे

सैफरन में पाए जाने वाले कुदरती पदार्थ  रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।  लेकिन केसर का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।  केसर के २-३ तर को गर्म दूध में डालकर दिन में सिर्फ १ बार सेवन करे।

संधिवा के दर्द को घटाए

केसर उसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है।  इसका सेवन करने से  ऊतकों को लैक्टिक एसिड से छुटकारा मिल सकता है,  और इस तरह ये सूजन और गठिया से संबंधित दर्द कम कर देता है।

Image Source : Pixabay

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *